Published On: Sep 18, 2019

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने हिंदी को लेकर उठे विवाद पर सफाई दी है। उन्होंने कहा कि क्षेत्रीय भाषाओं पर हिंदी थोपने की बात उन्होंने कभी नहीं की। उन्होंने कहा कि सिर्फ सुझाव दिया था कि हिंदी को दूसरी भाषा के तौर पर सीखा जाए। गृह मंत्री ने हिंदी दिवस के अवसर पर 'एक देश, एक भाषा' की वकालत की थी। उनके इस बयान के बाद कई विपक्षी दलों के नेता विरोध में उतर आए थे। शाह ने कहा कि उनके बयान पर केवल राजनीति की जा रही है। गृहमंत्री शाह ने कहा कि हिंदी दिवस के कार्यक्रम को गलत समझा गया।  

Related Videos

Entertainment Articles