Published On: Sep 23, 2019

चेन्नै में पिछले कुछ दिनों से हो रही लगातार बारिश के बाद तिरुसुलम पहाड़ी पर पर्यावरण के दृष्टिकोण से खतरनाक हरियाली छा गई है। इस हरे आवरण के पीछे छुपी खरपतवार से तिरुसुलम पहाड़ी की देसी वनस्पति को बड़ा खतरा उत्पन्न हो गया है। पहाड़ी का लगभग 30% क्षेत्र खरपतवार की 6 खतरनाक प्रजातियों से प्रभावित है। ये खरपतवार की प्रजातियां तिरुसुलम पहाड़ी के इकोलॉजिकल सिस्टम को प्रभावित या पूर तरह से बदल सकने में सक्षम है। खरपतवार की इस 'एलियन' प्रजाति का पता तब चला, जब भारतीय प्राणी सर्वेक्षण के पूर्व निदेशक के वेंकटरमन अध्ययन के लिए पहाड़ी पर गए।  

Related Videos

Entertainment Articles